भामाशाह कार्ड की जगह अब बनेगा जनआधार कार्ड, आप पात्र हैं या नहीं, यहां जान लें

जयपुर। प्रदेश में एक सितंबर से शुरू हो रही आयुष्मान भारत महात्मा गांधी राजस्थान स्वास्थ्य बीमा योजना शुरुआत में भामाशाह बीमा योजना ( Bhamashah Yojana ) की तर्ज पर ही चलेगी। 

इस दौरान 12 दिसंबर तक भामाशाह बीमा योजना में पहले से पात्रधारियों को तो योजना का पैकेज पहले की तरह मिलता ही रहेगा, साथ ही उस लाभ में उसी पैकेज पर आयुष्मान बीमा योजना के पात्रधारी परिवार भी जुड़ जाएंगे। इन्हें भी इस दौरान भामाशाह जितने ही पैकेज दिए जाएंगे।


भामाशाह ( Bhamashah ) में इस समय साधारण बीमारियों के लिए सालाना 30 हजार और गंभीर बीमारियों में सालाना 3 लाख का उपचार पैकेज है। इसके साथ ही भामाशाह कार्ड को खत्म कर अब जनआधार कार्ड दिए जाएंगे।


13 दिसंबर से आयुष्मान जैसा लाभ संभव
12 दिसंबर को भामाशाह बीमा की सालाना अवधि पूरी होती है। माना जा रहा है कि 13 दिसंबर से भामाशाह के पात्रधारियों को भी आयुष्मान बीमा योजना की तरह ही 5 लाख का उपचार पैकेज दिया जा सकता है। हालांकि इसकी आधिकारिक पुष्टि नहीं हुई है।

13 दिसंबर से आयुष्मान जैसा लाभ संभव
12 दिसंबर को भामाशाह बीमा की सालाना अवधि पूरी होती है। माना जा रहा है कि 13 दिसंबर से भामाशाह के पात्रधारियों को भी आयुष्मान बीमा योजना की तरह ही 5 लाख का उपचार पैकेज दिया जा सकता है। हालांकि इसकी आधिकारिक पुष्टि नहीं हुई है।


यह भी जानें
- भामाशाह बीमा योजना की तरह केशलेश बीमा की सुविधा मिलेगी।
- सरकारी व गैर सरकारी दोनों तरह के चिह्नित अस्पतालों में उपचार।
- जनआधार कार्ड ( Jan Aadhar Card ) से संबंधित पूरे परिवार को उपचार का लाभ मिलेगा।
- आयुष्मान और भामाशाह दोनों योजनाएं भाजपा सरकारों की देन हैं। कांग्रेस सरकार नाम बदल झूठी वाहवाही लूटना चाहती है।
कालीचरण सराफ, पूर्व चिकित्सा मंत्री

0 Comments:

Adnow

loading...