कांग्रेस ने भाजपा से छीनी दंतेवाड़ा सीट, रिकॉर्ड वोट से जीतीं देवती


जानता से रिश्ता वेबडेस्क
जसेरि रिपोर्टर
रायपुर/दंतेवाड़ा। दंतेवाड़ा विधानसभा के उपचुनाव में कांग्रेस ने अपनी खोई हुई सीट पर फिर से कब्जा कर लिया है। कांग्रेस की देवती कर्मा ने अपने निकटतम प्रतिद्वंद्वी भाजपा की ओजस्वी मंडावी को 11 हजार 192 मतों से पराजित किया है। चुनावी रण में उतरे बाकी सात प्रत्याशी जमानत भी नहीं बचा पाए, जबकि नोटा इस बार भी चौथे नंबर पर रहा। देवती को 50 हजार 28 और ओजस्वी को 38 हजार 836 वोट मिले। सात हजार 664 वोटों के साथ भाकपा के भीमसेन मंडावी तीसरे स्थान पर रहे। बाकी कोई भी प्रत्याशी को प्राप्त वोट पांच अंक के आंकड़े को भी नहीं छू पाए। इस जीत के बाद कांग्रेस की नजर अब चित्रकोट उपचुनाव पर है। वर्ष 2018 के आम चुनाव में भीमा मंडावी ने देवती कर्मा को 2172 मतों से हराकर सीट पर कब्जा किया था। उपचुनाव में नौ प्रत्याशी मैदान में थे, पर मुख्य मुकाबला कांग्रेस और भाजपा के बीच ही था। लोगों को अनुमान था कि टक्कर कांटे की होगी, क्योंकि दोनों ही नक्सल पीडि़त हैं। लेकिन देवती को जनता का ज्यादा समर्थन मिला।
शुरू से अंत तक बढ़त: शुक्रवार सुबह आठ बजे से इवीएम से मतों की गणना डाइट भवन में कड़ी सुरक्षा के बीच शुरू हुई। शाम करीब चार बजे 20 वें और अंतिम राउंड की गिनती पूरी की गई। इसके बाद जिला निर्वाचन अधिकारी टोपेश्वर वर्मा ने कांग्रेस की देवती कर्मा को विधायक निर्वाचित होने का प्रमाणपत्र सौंपा। दोपहर में ही परिणामों के रुझान के साथ कांग्रेसियों में उत्साह बढ़ता रहा। मतगणना में कांग्रेस ने शुरू से अंत तक भाजपा पर बढ़त बनाए रखी और अंतत जीत हासिल की। हालांकि कुछ बूथों पर जरूर भाजपा को कांग्रेस से अधिक वोट मिले, लेकिन यह भाजपा को जीत के आंकड़े तक नहीं पहुंच पाए।
सात की जमानत जब्त: दंतेवाड़ा के 273 बूथों में कुल एक लाख 14 हजार 364 वोट डाले गए थे। इसका 10 फीसद 11 हजार 436 होता है। चुनाव मैदान में खड़े नौ प्रत्याशियों में केवल देवती कर्मा और ओजस्वी मंडावी की जमानत राशि ही बची है। शेष सात प्रत्याशियों में से कोई भी जमानत नहीं बचा पाया।
महेंद्र कर्मा जी के सपनों की भी जीत: भूपेश-मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने ट्वीट कर जीत स्व. महेंद्र कर्मा जी के सपनों की भी जीत बताया। उन्होंने लिखा है कि दंतेवाड़ा विधानसभा उपचुनाव में जनता ने अपना आशीर्वाद देकर नवा छत्तीसगढ़ गढऩे के लिए सरकार द्वारा किए जा रहे कामों पर अपने दृढ़ विश्वास की मोहर लगाई है। देवती कर्मा को बधाई एवं शुभकामनाएं।
दन्तेवाड़ा चुनाव में अंतागढ़ मामले की गुंज
दंतेवाड़ा उपचुनाव में कांग्रेस की जीत पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए मंतूराम पवार ने कहा कि डा.रमनसिंह और भाजपा समय रहते मेरी बातो को गंभीरता से लिये होते ता आज रिजल्ट और कुछ होता, ये दुर्गति भाजपा को देखना नहीं पड़ता, बल्कि इसकी समीक्षा ना करके मुझे डा.रमनसिंह के इशारे पर बिना शोकाज नोटिस के दादागिरी कर पार्टी से निष्कासित कर दिया गया,जिसके चलते भाजपा को दन्तेवाड़ा उपचुनाव में बडी़ नुकसान और कांग्रेस को जीत मिली, मैने वोटिंग के चार दिन पहले ही कहा था, दन्तेवाड़ा के उपचुनाव में दूध का दूध और पानी का पानी होगा। अंतागढ़ उपचुनाव में खरीद-फरोख्त को लेकर मैंने 18 सितम्बर को पत्रकार वार्ता लेकर सच्चाई उजागर किया था, अंतागढ़ के उपचुनाव में दोनों मिलकर लोकतंत्र का हत्या किये हैं। तथा मेरे द्वारा दन्तेवाड़ा के मतदाताओं से अपील की गई थी कि डा.रमनसिंह और जोगी पार्टी को चुनाव के रणभूमि में ही सबक सिखायें। जनता ने रिजल्ट दिखा दिया, मैं दन्तेवाड़ा के मतदाताओं का दिल से आभारी हूँ। और विशेष कर बस्तर के ईष्ट देवी के शक्ति का आभारी हूँ, तुरन्त आर्शिवाद मुझे मिला,दन्तेवाड़ा का उपचुनाव के परिक्षा में पूर्ण से मैं पास हुआ, और छत्तीसगढ़ ही नहीं बल्कि पूरे देश के सामने 5-6 वर्षों से नकाब ओढ़े घुम रहे दोनो बड़े नेताओं की असलियत सामने आया। अब चित्रकोट उपचुनाव और नगरीय निकाय चुनाव की बारी है भाजपा का क्या हश्र होगा, समय ही बतायेगा ।
ओजस्वी का आरोप-वोटरों को धमकाया गया, बांटी साडिय़ां
उपचुनाव में मिली हार के बाद भारतीय जनता पार्टी की प्रत्याशी ओजस्वी मंडावी ने बड़ा बयान दिया । ओजस्वी ने कहा है कि इस चुनाव में सरकार की तरफ से वोटरों को धमकाया गया। साडिय़ां भी खूब बांटी गईं। लोगों पर दबाव डाला गया कि वो कांग्रेस को ही वोट करें। ओजस्वी ने देवती को जीत की बधाई देते हुए कहा कि यह जनता का आदेश और वह इसे मानती हैं। अब आगे राजनीति में ही रहकर लोगों के लिए करना है। ओजस्वी, नक्सल हमले में मारे गए भाजपा विधायक भीमा मंडावी की पत्नी हैं। इस हमले के बाद पार्टी ने उन्हें प्रत्याशी बनाया था।
डॉ रमन बोले- उपचुनाव में पूरा प्रशासनिक तंत्र कांग्रेस के साथ, लेकिन जीत तो जीत होती है, इसलिए बधाई देवती कर्मा को: दंतेवाड़ा उप चुनाव में कांग्रेस की जीत के बाद पूर्व मुख्यमंत्री का बयान सामने आया है। डॉ रमन सिंह ने देवती कर्मा की जीत को लेकर कहा कि दंतेवाड़ा उपचुनाव में पूरा प्रशासनिक तंत्र कॉंग्रेस के साथ था। मुझे भी कई सभाओं में जाने से रोका गया, लेकिन कॉंग्रेस के लिए कही कोई परेशानी नही आई। लेकिन जीत तो जीत होती है, इसलिए मैं देवती कर्मा को जीत की बधाई देता हूँ। वहीँ नेताप्रतिपक्ष धरमलाल कौशिक ने कहा कि गठबंधन में जीत हासिल हुई है अन्दर वालो की मदत से कॉंग्रेस ने जीत दर्ज की है. ज्ञातव्य हो कि दंतेवाड़ा से बीजेपी के विधायक भीमा मण्डावी की 2019 लोकसभा चुनाव के प्रचार से लौटते वक्त नक्सलियों ने ब्लास्ट कर उनकी गाड़ी उड़ा दी थी। जिसके बाद इस सीट से उप चुनाव किया गया। कांग्रेस ने इस सीट से दोबारा देवती कर्मा को उतारा था तो वहीं बीजेपी ने भीमा मण्डवी की पत्नी ओजस्वी मण्डावी को प्रत्याशी बनाया था। आज आये परिणाम में बीजेपी को इस सीट से हार मिली हैं वहीं देवती कर्मा इस सीट से विधायक चुनी गयी है।
संदर्भ पढ़ें

0 Comments:

Adnow

loading...