पाकिस्तान को झटका: अभी-अभी पूर्व पीएम को पड़ा दिल का दौरा, हालत बेहद नाजुक

बता दें, नवाज शरीफ की तबीयत बिगड़ने पर उनके बेटे ने पिता को जेल में जहर देने का आरोप लगाया था। नवाज ने ट्वीट कर लिखा था कि, ‘जहर के लक्षण हैं। अगर नवाज शरीफ को कुछ होता है, तो आप जानते हो इसके लिए जिम्मेदार कौन है।’ 

इस्लामाबाद: पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री और पाकिस्तान मुस्लिम लीग (एन) के सर्वोच्च नेता नवाज शरीफ की हालत बेहद नाजुक बनी हुई है। लाहौर में सेना के सर्विस अस्पताल में भर्ती नवाज को दिल का दौरा पड़ा है। पाकिस्तानी मीडिया ने इसकी जानकारी दी है। बता दें, शुक्रवार को नवाज के वकील ने लाहौर हाई कोर्ट में सुनवाई के दौरान कहा था कि नवाज की हालत बेहद गंभीर है।

यह भी पढ़ें: 
नवाज के वकील ने शुक्रवार को कोर्ट में मेडिकल रिपोर्ट पेश किया और कहा कि नवाज की हालत खराब होती जा रही है। वकील ने कहा कि उनके प्लेटलेट्स लगातार गिरते जा रहे हैं। सोमवार को उनकी तबीयत बिगड़ गयी थी, जिसकी वजह से उनको तुरंत सर्विसेज हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया था। मालूम हो, भ्रष्टाचार के आरोप में नवाज जेल में बंद थे।

पाकिस्तान सरकार की हुई थी आलोचना

वहीं, जब विपक्ष के पाकिस्तान सरकार की आलोचना की तब पंजाब सरकार को पाकिस्तान के प्रधानमंत्री ने पंजाब सरकार को निर्देश दिया कि मरियम नवाज को शरीफ के साथ रहने की इजाजत दी जाए। वैसे ये पहला मौका नहीं है जब शरीफ परिवार से किसी सदस्य की तबीयत बिगड़ी हो। जेल में मरियम नवाज की भी हालत बिगड़ गई थी।

यह भी पढ़ें: 
इसके बाद उसी अस्पताल में उन्हें पिता के बगल वाले कमरे में भर्ती कराया गया। मरियम को जवाबदेही अदालत ने धन शोधन के एक मामले में 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेजने का आदेश दिया था। बाद में उनकी हिरासत की अवधि बुधवार को दो दिन के लिए और बढ़ा दी गई थी।

यह भी पढ़ें: 
बता दें, नवाज शरीफ की तबीयत बिगड़ने पर उनके बेटे ने पिता को जेल में जहर देने का आरोप लगाया था। नवाज ने ट्वीट कर लिखा था कि, ‘जहर के लक्षण हैं। अगर नवाज शरीफ को कुछ होता है, तो आप जानते हो इसके लिए जिम्मेदार कौन है।’ शरीफ के भाई शाहबाज शरीफ ने भी ट्वीट कर लिखा था कि, ‘मैंने आज अपने भाई से मुलाकात की। मुझे उनकी तेजी से बिगड़ती हालत की बहुत चिंता हो रही है। सरकार को उदासीनता छोड़ उनके स्वास्थ्य को देखना चाहिए। मैं पूरे देश से मियां साहिब के लिए दुआ करने की अपील करता हूं।’

संदर्भ पढ़ें

0 Comments:

Adnow

loading...