अखबार में नौकरी, बालासाहब के भांजे से प्रेम विवाह; कुछ ऐसी हैं शरद पवार की इकलौती बेटी

पुणे/मुंबई. महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव में विपक्ष का सारा दारोमदार और संभावनाएं 78 साल के शरद पवार के कंधों पर हैं। राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी चीफ शरद पवार जबरदस्त तरीके से चुनाव अभियान में जुटे हुए हैं। इस चुनाव में शरद के भतीजे अजित पवार और एक पोता रोहित पवार भी उम्मीदवार हैं।
सुप्रिया सुले की जन्मतिथि -
शरद पवार की इकलौती बेटी भी पार्टी की राजनीति में सक्रिय हैं और राज्य की टॉप महिला लीडर्स में शुमार की जाती हैं। बेटी सप्रिया सुले महाराष्ट्र की महिला नेताओं में शीर्ष हैं। सुप्रिया का जन्म 30 जून 1969 को हुआ। 50 वर्षीय सुले राजनीति में एक कद्दावार नेता हैं। उन्होंने पिता शरद पवार से अलग हटकर अपनी पहचान बनाई है।
शादी के बाद शरद पवार ने लिया था ये वादा
शरद पवार और प्रतिभाताई ने शादी के बाद एक बच्चे का प्रण लिया था। सुप्रिया माइक्रोबायोलाजी से साइंस ग्रेजुएट हैं। पिता महाराष्ट्र की दिग्गज राजनीतिक हस्ती थे, इसके बावजूद सुप्रिया ने कॉलेज खत्म करने के बाद नौकरी की। उन्होंने पुणे के एक अखबार में नौकरी से अपने करियर की शुरुआत की।
बालासाहब ठाकरे के भांजे से प्रेम, फिर शादी
एक फैमिली फ्रेंड के जरिए साथ सुप्रिया की पहचान पति सदानंद सुले से हुई थी। बहुत कम लोगों को मालूम है कि सदानंद सुले, शिवसेना प्रमुख बालासाहब ठाकरे के भांजे हैं। पहली मुलाकात के बाद सदानंद और सुप्रिया में प्यार ओ गया। तत्कालीन प्रधानमंत्री चंद्रशेखर और शिवसेना प्रमुख बालासाहब ठाकरे की पहल से दोनों की शादी हुई। इस फैसले से पवार फैमिली काफी खुश थी।
शादी के वक्त सदानंद अमेरिका में नौकरी किया कराते थे। शादी के बाद सुप्रिया भी अमेरिका चली गई थीं। कुछ रिपोर्ट्स के मुताबिक सुप्रिया ने यहां आगे की पढ़ाई भी की। कुछ साल अमेरिका में बिताने के बाद सदानंद और सुप्रिया महाराष्ट्र वापस लौट आए। सुप्रिया और सदानंद के दो बच्चे हैं। विजय और रेवती। दोनों बच्चे अभी मुंबई में पढ़ाई कर रहे हैं।
सुप्रिया ने ऐसे मारी राजनीति में एंट्री
वापस आने के बाद सुप्रिया महाराष्ट्र की राजनीति में सक्रिय हो गईं। 2009 में सुप्रिया ने पवार के गढ़ बारामती लोकसभा क्षेत्र से लोकसभा का चुनाव लड़ा और सांसद बनीं। सुप्रिया ने राष्ट्रवादी युवती कांग्रेस के रूप में महाराष्ट्र में पार्टी का एक मजबूत महिला संगठन खड़ा किया।
सुप्रिया को माना जा रहा है पवार का उत्तराधिकारी
सुप्रिया को शरद पवार का उत्तराधिकारी माना जा रहा है। हालांकि दाबी जुबान यह भी चर्चा है कि अजित पवार सुप्रिया के राजनीति में आने से बहुत खुश नहीं हैं। वैसे अजित कई बार अपनी नाखुशी जाहीर कर दे रहे हैं। भविष्य में ये देखना दिलचस्प होगा कि पवार के बाद एनसीपी की कमान किसके हाथ में जाती है। 
ये कंटेंट UC के विचार नहीं दर्शाता है
READ SOURCE

0 Comments:

Adnow

loading...