जरूर जानें 15 जनवरी को आयोजित होने वाले आर्मी डे की ये खास बातें



हर साल 15 जनवरी को भारत में सेना दिवस मनाया जाता है। इसी दिन 1949 में फील्ड मार्शल केएम करियप्पा ने जनरल फ्रांसिस बुचर से भारतीय सेना की कमान संभाली थी। करियप्पा भारतीय सेना के पहले कमांडर इन चीफ बने थे। आजादी के बाद सेना के पहले दो चीफ ब्रिटिश थे। करियप्पा ने जनरल फ्रांसिस बुचर की जगह ली जिन्होंने 1 जनवरी, 1948 से 15 जनवरी, 1949 तक सेना के शीर्ष पद पर अपनी सेवाएं दीं। बुचर से पहले जनरल सर रॉबर्ट मैक्ग्रेगॉर मैक्डॉनाल्ड लोकहार्ट 15 अगस्त, 1947 से 31 दिसंबर, 1947 तक आर्मी चीफ रहे।

किप्पर के नाम से मशहूर करियप्पा ने जब सेना की कमान संभाली तब उनकी उम्र 49 वर्ष थी। चार साल तक आर्मी चीफ के तौर अपनी सेवाएं देने के बाद वह 16 जनवरी, 1953 को रिटायर हो गए।

भारत-पाक आजादी के वक्त करियप्पा को दोनों देशों की सेनाओं के बंटवारे की जिम्मेदारी सौंपी गई थी, जिसे उन्होंने पूरी ईमानदारी से निभाया था।

अप्रैल 1986 में उन्हें बेहतरीन सैन्य सेवाओं के लिए पंच-सितारा रैंक फील्ड मार्शल से सम्मानित किया गया। आज तक ये पंच-सितारा रैंक भारतीय सेनाओं में केवल तीन सैन्य अधिकारियों को मिली है- करियप्पा, फील्ड मार्शल सैम मानेकशॉ और मार्शल ऑफ इंडियन एयर फोर्स अर्जन सिंह।

ये 8 बातें जरूर जानें-
1. 15 जनवरी को आर्मी डे पर दिल्ली के परेड ग्राउंड पर आर्मी डे परेड का आयोजन होता है। आर्मी डे के तमाम कार्यक्रमों में से यह सबसे बड़ा आयोजन होता है। जनरल ऑफिसर कमांडिंग, हेडक्वार्टर दिल्ली की अगुवाई में परेड निकाली जाती है। आर्मी चीफ सलामी लेते हुए परेड का निरीक्षण करते हैं। ये परेड भी गणतंत्र दिवस परेड का हिस्सा होती है।

2. इस वर्ष तीनों सेनाओं के प्रमुखों के अलावा भारत के पहले चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ बिपिन रावत भी परेड में शामिल होंगे।

3. दिल्ली का परेड ग्राउंड राष्ट्रीय राजधानी के बड़े ग्राउंड्स में से एक है। सम्मान स्वरूप इस ग्राउंड का नाम करिप्पा कर दिया गया। हर वर्ष यहां आर्मी डे सेलिब्रेशन के अलावा कई बड़े कार्यक्रम होते हैं।

4. आर्मी डे पर आर्मी चीफ बेहतरीन सेवाओं के लिए जवानों को सम्मानित करते हैं और उनकी हौसलाफजाई करते हैं। बुधवार को 15 जवानों को गैलेंटरी अवार्ड और 18 बटालियनों को यूनिट सिटेशन्स मिलेगा।

5. परमवीर चक्र और अशोक चक्र विजेताओं को भी आर्मी डे परेड में बुलाया जाता है।

6. इस बार परेड में इन्फेंटरी कॉम्बेट व्हीकल बीएमपी-2के, के9 वज्र-टी आर्टीलरी गन, देश में बनी तोप धनुष, युद्धक टैंक टी-90 के साथ सेना अपना शौर्य का प्रदर्शन करेगी। परेड में 18 अलग अलग कंटीजेंट होंगी।

7. आर्मी परेड में पहली बार एक महिला पुरुष सैनिक टुकड़ियों की परेड का नेतृत्व करेगी। सभी टुकड़ियों की अगुवाई करने वाली तानिया शेरगिल पहली महिला परेड एडजुटेंट होंगी। परेड एडजुटेंट परेड के आयोजन और उसके दिशा-निर्देशन में अहम भूमिका निभाता है। शेरगिल दो साल पहले कॉर्प ऑफ सिग्नल में शामिल हुई थी।

8. आर्मी डे पर आर्मी चीफ अपने राजाजी मार्ग स्थित निवास स्थान पर रिसेप्शन देते हैं जिसमें प्रधानमंत्री, राष्ट्रपति, कैबिनेट मंत्री, सशस्त्र सेनाओं के वरिष्ठ अधिकारी, पूर्व आर्मी चीफ आदि शामिल होते हैं।

News Source: www.livehindustan.com


ऑस्ट्रेलिया में आग के विषय में हुआ एक नया खुलासा

अमित शाह ने CAA पर कहा, सभी प्रताड़ित लोगों को नागरिकता देकर ही हम दम लेंगे

पूरे देश में हुआ लागू नागरिकता संशोधन कानून (CAA)

मध्य प्रदेश में बीजेपी ने तानाजी फिल्म की तो कांग्रेस ने छपाक की टिकट बांटी

राज ठाकरे से हाथ मिलाने की अभी कोई योजना नहीं - देवेंद्र फडणवीस

0 Comments: