छपाक की निर्देशक मेघना गुलजार ने बताया, इनके कहने पर JNU गई थी दीपिका पादुकोण



फिल्म 'छपाक' की निर्देशक मेघना गुलजार ने सोमवार को कहा कि अभिनेत्री दीपिका पादुकोण का जवाहर लाल नेहरू विश्वविद्यालय (JNU) जाकर हमले के शिकार छात्रों के प्रति एकजुटता प्रकट करना उनका निजी फैसला था। उन्होंने निजी और पेशेवर जीवन को अलग रखने की जरूरत बताई। मेघना गुलजार ने दर्शकों से भी अनुरोध किया कि वे नजरिया बदलें और तेजाब हमले की शिकार लक्ष्मी अग्रवाल की जिंदगी पर फिल्म बनाने के कारण को देखें।

'छपाक' फिल्म में दीपिका मुख्य भूमिका में है। यह फिल्म उस समय राष्ट्रीय सुर्खियों में आयी जब दीपिका छपाक के प्रदर्शन से तीन दिन पहले JNU परिसर में गईं। हालांकि, उन्होंने वहां पर कुछ नहीं कहा। इसको लेकर दीपिका को प्रशंसा के साथ-साथ आलोचना का भी सामना करना पड़ा।

मेघना ने 'पीटीआई-भाषा' को टेलीफोन पर दिए साक्षात्कार में दीपिका के JNU जाने के मुद्दे पर कहा, 'हमें निजी और पेशेवर जीवन को अलग करने में सक्षम होना चाहिए। कोई अपनी निजी जिंदगी में क्या करता है और पेशेवर की तरह फिल्म में क्या करता है, उसे अलग-अलग देखना चाहिए।' उन्होंने कहा, 'जब वे निजी और पेशेवर पहलुओं को अलग करने की कोशिश कर रहे हैं और अगर कोई इस नजरिए में हल्का बदलाव कर यह देखता है कि आखिर हमने क्यों फिल्म बनाई, जिसे हम केंद्र में लाना चाहते हैं... मेरा मानना है कि वह महत्वपूर्ण है।'

उल्लेखनीय है कि 10 जनवरी को छपाक अजय देवगन की फिल्म 'तानाजी: द अनसंग वॉरियर' के साथ रिलीज हुई। मेघना गुलजार ने कहा, 'यह वितरकों का फैसला है और मेरा मानना है कि उनको भरोसा है कि दोनों फिल्में अलग है और उनके दर्शक मिलेंगे।'

News Source: www.livehindustan.com

BJP ने दिल्ली को 'भारत की कचरा राजधानी' में बदल दिया - अरविंद केजरीवाल

AAP के वादों को पछाड़ने की कोशिश में भाजपा-कांग्रेस

राज ठाकरे से हाथ मिलाने की अभी कोई योजना नहीं - देवेंद्र फडणवीस

मध्य प्रदेश में बीजेपी ने तानाजी फिल्म की तो कांग्रेस ने छपाक की टिकट बांटी

ऑस्ट्रेलिया में आग के विषय में हुआ एक नया खुलासा

ऑस्ट्रेलिया में आग से तबाह जंगलों में जिंदगी की नई शुरुआत

0 Comments:

Adnow

loading...